Ayurveda eating rules for weight loss

0
41
ayurveda eating rules for weight loss

अगर यदि आप चाहते है वेट घटाना वा आपका वेट नबढे और हमेशा तन्दुरुस्त और स्वस्थ रहना चाहते है तो यह खबर है आपके लिए

सबको पता होना चाहिए कि वजन घटाने के लिए और सेहत बनाने लिए सबसे जरुरत है खाना । आज मै आपको बताउँगा कि हमारे प्राचीन संस्कृति आयुर्वेदाके अनुसार खाना किस तरह खाना चाहिए । और खाना खानेके ऐसा टिप्स जो आप ध्यानमे रखेंगें तो आप सदा रहेंगें स्वस्थ और सेहतमन्द । साथही वजन भी बहुत जल्द ही घटा पायेगें ।

आयुर्वेदाके अनुसार सबसे ज्यादा ध्यान रखने बाली बात ये है कि जबतक आपको भुख नलगे खाना न खाए, अक्सर देखा क्या जाता है कि पेट भरा हुआ है भुख नहि है फिर भी कुछ अच्छे भोज्य पदार्थ देखकर जबर्दस्ती खा लेते है जो सेहत के लिए अच्छा नही होता । खाना खाने के बाद कहि बैठ जाना वा सो जाना जैसा लाइफस्टाइल मे बदलाव कर खाना खानेके बाद कुछ देर घुमफिर करना चाहिए । जिससे खाया गया खाना पचनेमे मदत मिलता है । यदि बैठना बहुत जरुरी हो तो कुछ देरके लिए बज्रासनमे बैठ सकते है ।

खाना खाने से पहले और खानेके बाद बुहत सारा पानी नही पीना है क्युकि हमारे जो डाइजेस्टिक शक्ति होता है जो पेटमे पचाने की शक्ति होती है उसे अग्नी कहा जाता है अगर अग्नीके उपर पानी डाल देने से इसका शक्ति कम हो जाता है ,कमजोर हो जाती है हमारी अग्नी शक्ति ।

यदि आप चाहते है कि डाइजेस्टिस शक्ति अच्छी तरह से काम करे और आपका खना जल्दी और अच्छी तरह से पच जाए तो जरुरी है कि आप अपनी अग्नीके उपर पानी नडाले । इसिलिए खाने से पहले खानेको तुरन्त बाद और खानाके बीच मे भी बहुत पानी का सेवन नकरे । साथही खानाको बहुत चबा–चबा कर खाना चाहिए, कारण खाना चबाकर धिरेसे खाने से उसका सल्फिस एरिया बढ जाता है जिससे हमारे बाँडी के भितर अन्जाइम्स, डाइजेस्ट जुसेज उसका एरिया बढ जाता है इस कारण खाना जल्दी पच जाता है जिससे आपका वजन भी नही बढेगें । जो लोग खाना धिरे–धिरे चबाकर खाते है ओ जल्दी खानेबाले के तुलनामे ज्यादा सेहतमन्द होते है ।

खानामे कभी भी विरुद्ध आहार नही करना चाहिए । विरुद्ध आहार अर्थात ढंडी और गर्म चिज एकसाथ नखाए जैसे काँफी और आइस्क्रिम, दुध के साथ भी अन्य चिज नही खाना चाहिए क्योकि दुध अकेले ही पुरा कम्पलीट आहार होता है । दुधके साथ कोइ फ्रुट नही मिक्स करना चाहिए, एसिडबाला चिज भी मे मिक्स नकरे, खासकर केला और दुधका मिल्क सेक बनाने से बहुत ज्यादा टाँक्सील हो जाता है, तो ये कम्पलीकेशन कभी भी सेवन नही करना चाहिए ।


जैसे दुध और मछली साथमे पकाना भी नही चाहिए खाने की बात को तो दुर ही रखे । इसलिए विरुद्ध आहार के सेवन से हमे बचना चाहिए । वैसे देखाजाय तो विरुद्ध आहारके सेवन से हमे तुरन्त कोई समस्या नहो लेकिन आगे जाके धिरे–धिरे हमारे बाँडीमे प्रोब्लम होने लगता है । इसिलिए विरुद्ध आहारका सेवन नही करे तो सेहतके लिए बहुत अच्छा रहता है ।

खाना कितना खाना चाहिए – आय्ुर्वेद के अनुसार खाना कभी भी ठुस–ठस के भर पेट नही खना चाहिए, इससे होता क्या है कि हमारे शरीर खाना पचाने की जगह नही रहजाता जिससे हामारे डायजेस्ट अच्छी तरह नही होता और हम विमार होते है । खाना कभी भी भरपेट न खाए थोडा कम खाना चाहिए ताकि पेटमे डाइजेस्ट के लिए जगह बचे ।

आयुर्वेदके अनुसार हो सके तो खाना जब भी गर्म–गर्म ही खाना चाहिए, ढंडा खाना खाने से भी हमारे डाइजेस्टिक शक्तिमे असर करता है और अच्छी तरह खाना नही पच पाता । गर्म खाना डाइजेस्ट बढानेमे मदत करता है और बहुत जल्द पचजाता है वही ढंडी खाना पचनेमे बहुत समय लगता है ।

Home remedies weight ingredients ( वजन कम करने के घरेलू उपाय )

– फल और सब्जियों और कम कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों की मात्रा बढ़ाएँ।

– बहुत अधिक नमक का सेवन करना क्योंकि यह शरीर के वजन को बढ़ाने के लिए एक कारक हो सकता है।

– पनीर, मक्खन आदि जैसे मांसाहारी उत्पादों और मांसाहारी खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए क्योंकि वे वसा से भरपूर होते हैं।

-मिंट वजन कम करने में बहुत फायदेमंद है। कुछ साधारण मसालों के साथ हरी पुदीने की चटनी भोजन के साथ ली जा सकती है। पुदीने की चाय भी मदद करती है।

– सूखी अदरक, दालचीनी, काली मिर्च आदि जैसे वजन कम करने के लिए अच्छे हैं और कई तरीकों से इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

– गाजर के रस का नियमित सेवन।

-अवॉइड राइस और आलू, जिनमें बहुत सारा कार्बोहाइड्रेट होता है। अनाज में गेहूं अच्छी है।

– कड़वी लौकी (करेला), और ड्रमस्टिक की कड़वी किस्म वजन घटाने में उपयोगी हैं।

– मोटापा दूर करने के लिए हल्दी एक बेहतरीन घरेलू उपाय है। यह शरीर में अतिरिक्त जमा वसा को जुटाता है जिससे इसे सामान्य कार्यों के लिए ऊर्जा के रूप में उपयोग किया जा सकता है।

खुराक: एक को लगभग 10 ग्राम या एक बड़ा चमचा के साथ शुरू करना चाहिए, सुबह जल्दी गर्म पानी के साथ लिया जाना चाहिए। एक चम्मच ताजा नींबू का रस भी मिलाया जा सकता है।

– शहद और नीबू पर रस लेना – ऊर्जा और भूख की हानि के बिना मोटापे के उपचार में अत्यधिक फायदेमंद है। इसके लिए एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच ताजे शहद के रस के साथ आधा चम्मच शहद मिलाएं।

खुराक: नियमित अंतराल पर दिन में कई बार लें।

– पका हुआ या पका हुआ गोभी वसा में चीनी और अन्य कार्बोहाइड्रेट के रूपांतरण को रोकता है। इसलिए, यह वज़न घटाने में बहुत मायने रखता है।

– एक्सरसाइज किसी भी वज़न घटाने की योजना का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह वसा के रूप में शरीर में संग्रहीत कैलोरी का उपयोग करने में मदद करता है। चलना सबसे अच्छा व्यायाम है, जिसके साथ शुरू करना और दौड़ना, तैरना या रोइंग का पालन किया जा सकता है।

मुझे विश्वास है कि आयुर्वेदा अनुसारके यह टिप्स आपको पसन्द आया होगा । सम्भव है यहाँ दिएगए कुछ टिप्सके बारेमे आप पहले से जानते होगें और कुछ टिप्स नया भी हो सकता है । लेकिन अपने कुछ खानपानके लाइफस्टाइलमे परिवर्तन करके सेहतमन्द जीवनका आनन्द लेनेमे क्या हर्ज है ।

धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here